इस लेख में आपका स्वागत है, आज हम भगवान नरसिंह की बात करने वाले हैं, जिसमें श्री नरसिम्हा मंत्र की जानकारी हम प्रदान करने वाले हैं। यदि आप Ugram Veeram Mahavishnum Lyrics in Hindi खोज में है, तो बिल्कुल सही जगह पर आ चुके हैं। क्योंकि यहां पर हम आपको इस मंत्र को अर्थ सहित बताने वाले हैं।

हिरण्यकश्यप का वध करने के लिए भगवान नरसिंह को जन्म लेना पड़ा। क्योंकि प्रल्हाद हिरण्यकश्यप के बेटे थे और भगवान विष्णु जी के भक्त भी थे जो कि हिरण्यकश्यप को कभी प्रसन्न नहीं था। हिरण्यकश्यप चाहता था कि उसका पुत्र प्रल्हाद सिर्फ उसी की आराधना और पूजा करें, ना कि भगवान श्री विष्णु की।

श्री नरसिंह मंत्र

लेकिन जब भक्त प्रल्हाद अपने पिता हिरण्यकश्यप की पूजा करने से इनकार किया तब हिरण्यकश्यप ने कई सारे तरीकों से अपने बेटे प्रह्लाद को मारने की कोशिश की, लेकिन प्रह्लाद की अटूट भक्ति की आगे असफल रह गए। अंत में जब एक बार हिरण्यकश्यप ने अपने बेटे से पूछा कि कहा है तुम्हारा भगवान, तब एक खंभे से भगवान विष्णु नरसिंह अवतार में प्रकट होकर हिरण्यकश्यप का वध कर दिया।

श्री नरसिंह मंत्र – Ugram Veeram Mahavishnum

Ugram Veeram Mahavishnum

ॐ उग्रं वीरं महाविष्णुं ज्वलन्तं सर्वतोमुखम् ।
नृसिंहं भीषणं भद्रं मृत्युमृत्युं नमाम्यहम् ॥

Ugram Veeram Mahavishnum  Jwalantm Savrtomukhm । Narasimham Bheeshanm Bhadram Mrityumrityam Namamyaham ॥

Ugram Veeram Maha Vishnum Lyrics Meaning in Hindi

हे क्रुद्ध और शूरवीर भगवान महाविष्णु आपकी ज्वाला और ताप चारों दिशाओं में फैली हुई है। है नरसिंह स्वामी आपका चेहरा सर्वव्यापी है, आप मृत्यु को भी हराने वाले हैं और मैं आपके सामने अपने आप को समर्पित करता हूं।

भगवान विष्णु जी की नरसिंह रूप में इस मंत्र के साथ जप करने से जाहिर तौर पर आपको लाभ मिलेगा। हर दिन इस मंत्र का जप करने से मन में छुपा डर, चिंता, तनाव सब दूर हो जाते हैं और मन में एक स्पष्टता आ जाती है। इस मंत्र के जप करने से और भी बहुत सारे चमत्कारी बड़े फायदे होते हैं, जिसके बारे में आप को इस जप को करने के बाद ही पता चल जाएगा।

धन्यवाद.

इन्हें भी पढ़े:

Share.

Leave A Reply